जीवन के प्रथम 2 वर्षोंं में बालक अपने भावी जीवन का शिलान्यास करता है। यद्यपि किसी भी आयु में उसमें परिवर्तन हो सकता है, पर प्रारम्भिक प्रवृत्तियाँ व प्रतिमान सदैव बने रहते हैं। यह परिभाषा किसने दी है?

जीवन के प्रथम 2 वर्षोंं में बालक अपने भावी जीवन का शिलान्यास करता है। यद्यपि किसी भी आयु में उसमें परिवर्तन हो सकता है, पर प्रारम्भिक प्रवृत्तियाँ व प्रतिमान सदैव बने रहते हैं। यह परिभाषा किसने दी है?


Education Psychology Quiz

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here